बेन स्टोक्स बोले- डीविलियर्स की बजाए चहल को मिलना था मैन ऑफ द मैच; पीटरसन ने कहा- सुनील नरेन पहले जैसे खतरनाक गेंदबाज नहीं रहे


शारजाह4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

केकेआर के खिलाफ यजुवेंद्र चहल ने 12 रन देकर कप्तान दिनेश कार्तिक का विकेट लिया। इस सीजन में इस लेग स्पिनर ने अब तक कुल 7 मैच खेले। इनमें 19 ओवर किए और 10 विकेट लिए।

  • एबी डीविलियर्स ने केकेआर के खिलाफ 33 गेंद पर 73 रन बनाए
  • चहल ने 12 रन देकर केकेआर के कप्तान दिनेश कार्तिक का विकेट लिया

राजस्थान रॉयल्स के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स का कहना है कि सोमवार रात को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) और कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के बीच में हुए मैच में स्पिनर युजवेंद्र चहल को मैन ऑफ द मैच दिया जाना चाहिए था। इस मैच को आरसीबी ने 82 रन से जीता। चहल ने इस मैच में 4 ओवर में 12 रन देकर दिनेश कार्तिक का विकेट लिया था। दरअसल, स्टोक्स का बयान चहल की किफायती बॉलिंग के संदर्भ में है। इस मैच में आरसीबी के डिविलियर्स को 33 गेंद पर 73 रन बनाने के लिए मैन ऑफ द मैच दिया गया था।

आरसीबी की ओर से क्रिस मॉरिस ने 4 ओवर में 17 रन देकर 2, वॉशिंगटन सुंदर ने 4 ओवर में 20 रन देकर 2 और मोहम्मद सिराज ने 3 ओवर में 24 रन देकर 1 विकेट लिए थे।

मैच के बाद स्टोक्स ट्वीट किया। कहा- शारजाह की विकेट बल्लेबाजी के लिए अच्छी मानी जाती है। इसके बावजूद युजवेंद्र चहल ने यहां अच्छी गेंदबाजी की। उन्हें मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड मिलना चाहिए था। शारजाह में यह गेंदबाजी के बहुत अच्छे आंकड़े कह जा सकते हैं।

डीविलियर्स ने बनाए 73 रन

बेंगलुरु ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 195 रन का टारगेट दिया। केकेआर ने 9 विकेट पर 112 रन ही बना सकी। आरसीबी की ओर से एबी डीविलियर्स ने 33 गेंद पर 73 रन बनाए। उन्होंने 23 गेंद पर फिफ्टी लगाई। जबकि कोहली ने 28 गेंद पर 33 रन बनाए।

चहल ले चुके हैं 10 विकेट

चहल ने आईपीएल के इस सीजन में बेहतर गेंदबाजी की है। उन्होंने 7 मैच खेले हैं और 19 ओवर में 10 विकेट लिए हैं। चहल का यह आरसीबी के साथ पांचवां सीजन है। इसके पहले वे मुंबई इंडियंस का हिस्सा रहे हैं। 2011 में मुंबई इंडियंस की चैम्पियंस लीग में खेली टीम का हिस्सा ररहे। 2015 में आरसीबी के लिए उन्होंने 23 और 2016 में 21 विकेट लिए।

नरेन के गेंद अब ज्यादा स्पिन नहीं करती

पीटरसन ने कहा- सुनील अब वैसे गेंदबाज नहीं रहे जैसे कुछ साल पहले हुआ करते थे। अब वे उतने खतरनाक नहीं हैं। उनकी गेंद अब पहले की तरह स्पिन नहीं होतीं। शारजाह की बात करें तो यहां वे खेले या नहीं, इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ता। बैटिंग में वो गेंदबाजों को उनसे ज्यादा परेशानी नहीं हो रही है। आप उन्हें शॉर्टपिच गेंदें फेंकिए। उन्हें दिक्कत होने लगती है। वैसे भी सुनील आखिरी क्रम (टेलएंडर) के बल्लेबाज हैं। मैं उन्हें टॉप ऑर्डर बैट्समैन नहीं मानता।

सोमवार को आरसीबी ने केकेआर को 82 रन से हरा दिया। जिसके बाद नरेन को खिलाने की मांग सोशल मीडिया पर की जा रही थी। आईपीएल में नरेन ने अब तक 116 मैच खेले हैं। 127 विकेट लिए। इस दौरान उनका इकोनॉमी रेट 6.74 रहा।



https://www.bhaskar.com/sports activities/cricket/ipl-2020/information/rajasthan-royals-all-rounder-ben-stokes-said-yajuvendra-chahal-should-have-got-man-of-the-match-in-place-of-de-villiers-127808929.html

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty − nine =